शहादतों का दौर, और आपकी दो कौड़ी की राजनीति By Editorial Team

पुलवामा की शहादतों की अभी चिताएं शांत हुई न थी के ,१६ और १८ फ़रवरी को देहरादून के दो सेना के मेजर (मेजर चित्रेश सिंह बिष्ट (इंजीनियरिंग कोर ) और मेजर विभूति ढौंढियाल (५५ राष्ट्रीय राइफल्स  )  की शहादत कश्मीर के राजौरी...


पुलवामा हमले पर बुद्धिजीवियों की चुप्पी By Editorial Team

CRPF पर पुलवामा हमले के  बाद कि असल कार्यवाही में social मीडिया का कितना असर रहेगा यह अंदाजा लगाना अभी मुश्किल है, पर बीते दिनों ने हमारे देश क लुतियेन समाज के असल चेहरा सामने ला दिया है। उत्तराखंड के इंतेल्लेक्तुअल समुदाय ने...